पाकिस्तान ने पैडमैन पर लगाई पाबंदी तो पाक की महिला पत्रकारों ने जताया विरोध


Feb. 12, 2018, 3:29 p.m.

 

अक्षय कुमार की फिल्म पैडमैन को भारत में खूब पसंद किया जा रहा है। फिल्म की समीक्षकों और दशर्कों ने काफी तारीफ की है। महिलाओं के पीरियड्स और साफ सफाई पर आधारित अक्षय कुमार की फिल्म 'पैडमैन' को जहां भारत में काफी सराहा जा रहा है वहीं पाकिस्तान में फिल्म पर बैन लगा दिया गया है। जिसके बाद कई लोगों के रिएक्सन भी देखने को मिल रहे हैं। पहले पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार फिर रुबिका लियाकत के बाद कई और लोगों के रिएक्शन देखने को मिल रहे हैं। ये पत्रकार फिल्म को पाकिस्तान में ना दिखाए जाने का विरोध कर रहे हैं। 

पत्रकार मेहर तरार के बाद अब एक और पाकिस्तानी पत्रकार अमारा अहवाद ने ट्वीट कर पाकिस्तान पर तंज कसा है। अमारा ने ट्वीट में लिखा है- 'हां पाकिस्तामी महिलाओं को भी पीरियड्स होता है। मैं पैडमैन को सपोर्ट करती हूं। फिल्म को बैन करना निराधार है। फिल्म को रिलीज किया जाना चाहिए' 

 

इतना ही नहीं अमारा अहवाद का साथ देते हुए घरीदा फारुकी ने भी ट्वीट कर पाकिस्तानी सेंर बोर्ड को खूब लताड़ा। घरीदा ने ट्वीट किया, हमारी संस्कृति और सभ्यता के खिलाफ है पैडमैन, बहुत अच्छा क्योंकि यहां की महिलाओं को तो पीरियड्स नहीं होते न। कितने बेवकूफ लोग सेंसर बोर्ड में बैठे हुए हैं। पैडमैन को पाकिस्तान में रिलीज किया जाना चाहिए।

पाकिस्तानी पत्रकार मोना आलम ने भी पाकिस्तानी सेंसर बोर्ड को आड़े हाथों लिया। मोना ने लिखा, असुरक्षा, निरक्षरता और पाकिस्तानी फिल्मकारों के दोहरे मापदंड जैसी चीजें ठीक लेकिन पारियड्स जैसे विषय को गैरइस्लामिक मानना कहां तक सही है।

 

Related news

Trending