अक्षय की कई फिल्मों को पाक ने किया बैन, इन फिल्मों को भी रिलीज नहीं होने दिया


Feb. 11, 2018, 10:08 a.m.

 

 

 

पाकिस्तान  सेंसर बोर्ड ने अक्षय कुमार की फिल्म  पैडमैन पर बैन लगा दिया है। पाकिस्तान के फेडरल सेंसर बोर्ड (एफसीबी) ने फिल्म के प्रदर्शन की मंजूरी नहीं दी। एफसीबी के सदस्य इशाक अहमद ने कहा कि हम अपने फिल्म वितरकों को ऐसी फिल्में आयात करने की इजाजत नहीं दे सकते, जो हमारी परंपरा और संस्कृति के खिलाफ हैं। पाकिस्तान के पंजाब फिल्म सेंसर बोर्ड के सदस्यों ने भी फिल्म को मंजूरी प्रमाण पत्र देने से मना कर दिया। एक सदस्य का कहना है कि हम अपने सिनेमाघरों में वर्जना वाले विषयों पर फिल्म दिखाने की इजाजत नहीं दे सकते। ऐसा करना हमारी संस्कृति, समाज और धर्म में है।  आपको बता दे कि अक्षय कुमार की कई फिल्मों पर पाकिस्तान पहले भी बैन लगा चुका है। बेबी, खिलाड़ी 786, नाम शबाना, जॉली एलएलबी को भी पाकिस्तान में बैन कर दिया गया था। 

हालांकि इससे पहले फिल्म पद्मावती को बिना किसी काट छांट रिलीज करने का ऑर्डर दे दिया है। पाकिस्तान के सेंसर बोर्ड ने फिल्म को 'U' सर्टिफिकेट देकर इसे पूरे देश में रिलीज करने का फैसला किया था । इस पर पाकिस्तान के जानेमाने फिल्म निर्माता सैयद नूर का कहना है कि सिर्फ 'पैडमैन' ही नहीं, बल्कि 'पद्मावत' को भी पाकिस्तान में नहीं दिखाना चाहिए था, क्योंकि इसमें मुसलमानों की नकारात्मक छवि पेश की गई है।  भारत हर फिल्म के साथ पाकिस्तान का रवैया कुछ ऐसा ही होता है। भारतीय  फिल्मों में अगर देशभक्ति का जज्बा तो ऐसी फिल्में पाकिस्तान को पसंद नहीं आती। सनी देओल की फिल्मों से पाकिस्तान को सबसे ज्यादा नफरत है। सनी की कई ऐसी ब्लॉकबस्टर फिल्में हैं जो कि पाकिस्तान में रिलीज नहीं हुई। गदर और बॉर्डर समेत उनकी देशभक्ति पर बनी तमाम फिल्मों को पाकिस्तान सेंसर बोर्ड ने पास नहीं होने दिया। 

दंगल  ( 2016 )

साल 2016 में आमिर खान की फिल्म 'दंगल' पाकिस्तान में रिलीज होने वाली थी। फिल्म रिलीज की सारी तैयारियां पूरी हो गई थी। इसी दौरान पाकिस्तान के सेंसर बोर्ड ने आमिर के सामने रख दी एक शर्त। कहा फिल्म में जो भारत का राष्ट्रगान जन गण मन बज रहा है वो हटा दिया जाए । आमिर खान ने कहा नहीं हटाएंगे । पाकिस्तान में मुझे दंगल रिलीज ही नहीं करनी। आमिर खान को कम से कम 20 करोड़ का नुकसान हुआ लेकिन उन्होंने अपनी फिल्म से राष्ट्रगान जन गण मन  नहीं हटाया। 

 

टाइगर जिंदा है ( 2017 )

पाकिस्तान ने सलमान खान की ब्लॉकबस्टर फिल्म टाइगर जिंदा है को भी अपने देश में बैन कर दिया। भारत की खुफिया एजेंसी Raw पर बनी ये फिल्म पाकिस्तान को पसंद नहीं आई। पाकिस्तानी सिक्युरिटी एजेंसी और इंडिया के बीच विवाद के चलते पाकिस्तान सरकार ने इस फिल्म पर बैन लगा दिया था। दरअसल फिल्म में कुछ न कुछ ऐसा था, जो पाकिस्तान के नेशनल इंटरेस्ट के अगेंस्ट था।

 

एक था टाइगर  ( 2012 ) 

पाकिस्तान ने एक था टाइगर को भी बैन कर दिया था। इस फिल्म में हिंदुस्तान और पाकिस्तान के जाससों में प्यार हो जाता है। पाकिस्तान ने इस फिल्म को हरी झंडी नहीं दिखाई थी। 

 

भाग  मिल्खा भाग ( 2013 ) 

साल 2013 में आई डायरेक्टर राकेश ओमप्रकाश मेहरा की फिल्म 'भाग मिल्खा भाग' में फरहान अख्तर, सोनम कपूर, दिव्या दत्ता, पवन मल्होत्रा और योगराज सिंह थे। यह फिल्म इंडियन एथलीट 'फ्लाइंग सिख' मिल्खा सिंह पर बेस्ड थी। दरअसल, फिल्म में दिखाया गया है कि भारत-पाकिस्तान के बंटवारे के दौरान मिल्खा के फैमिली मेंबर्स की हत्या कर दी जाती है। हालांकि बाद में फिल्म से बैन हटा दिया गया था।

एजेंट विनोद 

साल 2012 में आई डायरेक्टर श्रीराम राघवन की फिल्म 'एजेंट विनोद' में सैफ अली खान, करीना कपूर और प्रेम चोपड़ा थे। इस फिल्म को रिलीज के कुछ दिनों पहले ही बैन किया गया था। इस फिल्म में सैफ अली खान इंडियन इंटेलीजेंस में होते हैं। फिल्म का मेजर इश्यू ये था कि इसमें सीनियर पाकिस्तानी ऑफिसर्स को अफगानिस्तान में तालिबान का सपोर्ट करते हुए दिखाया गया है।

 

 

 

Related news

Trending